Kamini Roy Biography poems In Hindi bangali

158

Kamini Roy Biography poems In Hindi कामिनी रॉय बायोग्राफी ,,जीवनी,,हिंदी 

Kamini Roy Biography कामिनी रॉय का जन्म  बंगाल में  12 अक्टूबर 1864 को हुआ था , Kamini Roy बंगाली भाषा की कवि  थी इसके साथ-साथ वाह एक सामाजिक कार्यकर्ता थी Kamini Roy का आज  जन्मदिन है जिसके कारण गूगल ने अपना डूडल Kamini Roy को बनाया है।

Kamini Roy समाज सेवी

Kamini Roy एक ऐसी  समाज सेवी  थी जिसको आज भी याद किया जाता है Kamini Roy का जन्म 1864 के में हुआ था, जबकि आज से तकरीबन 150 साल बाद भी उन्हें याद किया जाता है Kamini Roy जैसी सामाजिक  कार्यकर्ताओं की वजह से आज महिलाओं की स्थिति में सुधार हो रहा है हमेशा से महिलाओं के सुधार के लिए काम करती रही है।

Kamini Roy ने गढ़ित विषय से पढ़ाई करके  भारत की पहली महिला ग्रेजुएशन बनी थीा, जिसके कारण उन्होंने बंगाली में कई कविताएं लिखना शुरू कर दिया और अपने जीवन काल में अधिकतर समय वह महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए संघर्ष करती रही Kamini Roy की आज 155 भी जयंती मनाई जा रही है।

Kamini Roy जन्म स्तान 

Kamini Roy का जन्म 12 अक्टूबर 1864 को बंगाल में हुआ था जो बंगाल विभाजन के बाद पूरी पाकिस्तान बना और बाद में बाह  जाकर बांग्लादेश बन गया कामिनी रॉय का जन्म हिन्दू परिवार में हुआ था और कामिनी रॉय अपने  का एक भाई कोलकाता का मेयर था और  उनकी बहन नेपाल में राजपरिवार की नर्स थी।

Kamini Roy study 

Kamini Roy को बचपन से ही कविता लिखने का काफी शौक था जिनके कारण उन्होंने  महा विश्वविद्यालय में संस्कृत में अपनी स्नातक की डिग्री कंप्लीट की और बाप अंग्रेजों के गुलाम होते हुए पहली महिला बन गई थी जिन्होंने स्नातक की डिग्री हासिल की थी, इसके साथ-साथ उनकी मुलाकात वही पढ़ते हुए एक छात्र अबला बॉस से मुलाक़ात  हुई जिसके बाद  दोनों एक सामाजिक कार्य में लग गई क्योंकि  उसको भी समाज सेवा में कार्य करने में अच्छा लगता था।

Kamini Roy आज़ादी की लड़ाई 

Kamini Roy का जीवन आजादी के इर्द-गिर्द ही बढ़ी हुई थी  और उन्होंने आजादी में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था Kamini Roy तो शुरू से ही महिलाओं के वोट डालने के पक्ष में रही थी Kamini Roy  महिलाओं के लिए खासा चिंतित रहती थी जब उनके पति देव  की मृत्यु हो गई इसके बाद उन्होंने कविताएं लिखना जारी रखा और कविताओं का केंद्र भारत की महिला बनी अपनी कविताओं के जरिए महिलाओं के सुधार पर ध्यान देती थी और हमेशा महिलाओं की  स्थिति सुधारने पर कविताएं लिखती थी।

Kamini Roy महिला सशक्तिकरण  

Kamini Roy अपने जीवन काल में अधिकतर समय महिलाओं के विकास के लिए ही लड़ती रही  और जब तक जिन्दी रही महिलाओं की स्थिति के सुधार के लिए आवाज उठाती रही क्योंकी जिस समय Kamini Roy का जन्म हुआ था उस समय महिलाओं की स्थिति काफी खराब थी जिसके कारण महिलाओं के अधिकार के लिए Kamini Roy लड़ती रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here